how to assemble pc in hindi?

कंप्यूटर खरीदने से पहले किन किन बातों का ध्यान रखें How to Assemble PC in Hindi?

How to Assemble PC in Hindi? जी हां अगर आप पर्सनल कंप्यूटर लेने के बारे में सोच रहे हैं 2021 में तो आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इस लेख में हम आपको उन सभी महत्वपूर्ण बातें जो कोई भी कंप्यूटर खरीदने से पहले आपको पता होनी चाहिए ,उन सब के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं,

तो चलिए शुरू करते हैं कि आपको कोई भी कंप्यूटर खरीदने से पहले ही भले ही वह आपके घर के लिए, ऑफिस के लिए, या फिर बिजनेस के लिए हो, आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

आपका कंप्यूटर बजट  before how to assemble pc in Hindi

यह तो जाहिर सी बात है कि कोई भी चीज खरीदने से पहले आप सबसे पहले यही सोचते होंगे कि उस चीज का मूल्य कितना है यानी उस चीज़ की मार्केट वैल्यू कितनी है और आप उस चीज के लिए कितना पैसा लगा सकते हैं.

इस सब में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर उस चीज का मूल्य आपके द्वारा लगाए गए मूल्य से ज्यादा होता है यानी कीमत ज्यादा हो जाती है तो ऐसे में आपको क्या करना चाहिए.

ऐसे में कई बार यह देखने में आता है कि बजट कम होने की वजह से आप कई बार कुछ चीजों में कमी कर देते हैं और कई कई बार तो बजट कम हो जाने की वजह से Quality में भी कंप्रोमाइज करना पड़ता है लेकिन ऐसा करना कितना सही कितना गलत चलिए हम आपको बताते हैं.

यह बात तो सही है कि अगर आपका उतना बजट नहीं है तो आप खरीदेंगे कहां से तो ऐसे में आपको क्या करना चाहिए। मेरा मानना है कि सबसे पहले आपको एक पेन और कॉपी लेकर आप कंप्यूटर क्यों खरीद रहे हैं, उन चीज़ो की एक संपूर्ण लिस्ट बनानी चाहिए। यानी आपकी कंप्यूटर से संबंधित आवश्यकता क्या क्या है.

अगर आप कंप्यूटर में गेम खेलना चाहते हैं तो Play Games on Computer

यदि आप गेम खेलने के शौकीन है फोन इत्यादि में और आप कंप्यूटर में भी गेम खेलना चाहते हैं तो मैं आपको बता दूं कि कंप्यूटर में गेम खेलने के लिए आपको कुछ जरूरी तकनीकी बातों का ध्यान रखना पड़ता है.

अगर आप कोई भी साधारण (Computer games) गेम कंप्यूटर खेलना चाहते हैं तो इसके लिए कम से कम RAM 1GB की होनी चाहिए और अगर आप अच्छे वाले High-End कंप्यूटर गेम जिसमे ग्राफिक्स (Graphics) बहुत हाई एंड (HIGH-End) होते हैं वह खेलना चाहते हैं तो उसके लिए कम से कम 2 या 4GB रैम (RAM) की आवश्यकता पड़ती है.

RAM का साइज यानी 2GB हो 4GB हो 12gb हो 32GB हो, यह सब आप अपने बजट के हिसाब से तय कर सकते हैं. चलिए हम आपको बताते हैं कि रैम कंप्यूटर के लिए इतनी ज्यादा महत्वपूर्ण क्यों है और यह क्या होती है और कंप्यूटर में क्या उपयोग होता है रैम का.

कंप्यूटर में रैम क्या होती है? (what is Ram in computer?)

How to assemble pc in hindi?
Photo by Harrison Broadbent on Unsplash

अगर हम रैम की बात करें तो यह कंप्यूटर के लिए एक सबसे महत्वपूर्ण भागों में से एक होती है RAM की फुल फॉर्म होती है रेंडम एक्सेस मेमोरी (RANDOM ACCESS MEMORY) कंप्यूटर में जो काम होता है वह सबसे पहले रैम पर ही होता है.

आपके कंप्यूटर में जितनी ज्यादा रैम  होगी. उसकी स्पीड उतनी ही ज्यादा होगी उसकी परफॉर्मेंस भी ज्यादा होगी .उसकी कार्य करने की क्षमता भी ज्यादा होगी।

लेकिन ज्यादा रैम मतलब आपको ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे कंप्यूटर खरीदते समय, और यह आपके बजट को भी प्रभावित कर सकता है. अब हम बात कर लेते हैं कंप्यूटर में प्रोसेसर और हार्ड डिस्क की.

Computer Processor क्या होता है?

How to assemble pc in hindi?
Photo by Slejven Djurakovic on Unsplash

सबसे पहले बात करते हैं प्रोसेसर कि, अगर प्रोसेसर की बात करें तो कंप्यूटर का प्रोसेसर computer का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है जिसे हम सीपीयू (CPU) कहते हैं सी पी यू का मतलब होता है सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (Central processing unit) और कंप्यूटर के सारे काम CPU पर ही होते हैं.

आपका जो प्रोसेसर होता है चाहे वह intel कंपनी का हो या कोई और company का हो उसकी क्वालिटी बहुत महत्वपूर्ण होती है किसी भी कंप्यूटर को कम्पलीट बनाने के लिए. जितना अच्छा प्रोसेसर होगा उतनी अच्छी उसकी परफॉर्मेंस होगी, स्पीड होगी, user-interaction अच्छा होगा.

Latest Top three Intel Processor in market –

intel i3, intel i5, intel i7, intel i9 – यह सब के सब अलग अलग जेनरेशन के साथ मार्केट में उपलब्ध है.

Computer Hard drive क्या होती है?

How to assemble pc in hindi?
Photo by Vincent Botta on Unsplash

कंप्यूटर में दो तरह की हार्ड ड्राइव (hard-drive) होती है. HDD और एक होती है SDD. दोनों में बहुत अंतर होता है, दोनों की स्पीड में भी बहुत अंतर होता है, और उन दोनों की कीमत तो बहुत अंतर होता है.

HDD सस्ती आती है और SDD हार्ड ड्राइव महंगी आती है SDD Hard drive HDD से 17 गुना ज्यादा तेज होती है.

इसलिए अगर आप अपने कंप्यूटर को बहुत ज्यादा तेज बनाना चाहते हैं और अगर आपको जल्दी-जल्दी कंप्यूटर पर काम करना पसंद है तो आपको HDD की अपेक्षा SDD हाईड्राइव लेनी चाहिए.

Full from of HDD in Hindi – हार्ड-डिस्क या  हाई-ड्राइव या फिक्स्ड-डिस्क (Hard drive or hard disk, or fixed disk)

Full form of SDD in Hindi – सॉलि़ड स्टेट ड्राइव (Solid state drive)

Capacity of Hard drive यानी आपको कितने GB की हार्ड ड्राइव लेनी है वह अपनी आवश्यकतानुसार ले सकते हैं (for example 160GB, 250GB, 500GB to so on).

कंप्यूटर के लिए Graphics card क्या होता है in Hindi?

How to assemble pc in hindi?
Photo by Christian Wiediger on Unsplash

कंप्यूटर में Graphics card का बहुत महत्वपूर्ण योगदान होता है अगर आप video editing कर रहे हैं या बहुत ही ज्यादा High-end games खेल रहे हैं यानी कोई भी ऐसा काम जिसमें high definition visuals, 3D visuals, etc का उपयोग होता है तो इसके लिए वीडियो card की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है.

ग्राफिक कार्ड कंप्यूटर में एक एक्स्ट्रा सीपीयू की तरह होता है जो CPU को अलग-अलग tasks करने के लिए extra power प्रदान करता है.

यदि आप कोई video- editing  कर रहे हैं तो उसके लिए आपके CPU को ज्यादा पावर की आवश्यकता होती है लेकिन अगर आपके पास ग्राफिक कार्ड है तो आपका CPU प्लस जो आपका graphic card  power दे रहा है दोनों मिलाकर उस video editing तो बहुत जल्दी से complete कर लेती है.

Graphic cards वैसे तो काफी महंगे आते हैं अगर उनकी शुरुआती कीमत हो से लेकर उच्च मूल्य तक बात की जाए. लेकिन ग्राफिक कार्ड आपको अपनी आवश्यकता के अनुसार लेना चाहिए .

अगर आपका ऐसा काम है ही नहीं जिसमें वीडियो एडिटिंग करनी पड़ती है या software development करने पड़ते हैं, आप high-ends games भी नहीं खेलते तो आपको ग्राफिक कार्ड की कोई आवश्यकता नहीं है आपको अगर सिंपल शुरुआती दिनों में कंप्यूटर सीख रहे हैं या कोई basic कोर्स कर रहे हैं तो आपको ग्राफिक कार्ड पर पैसे लगाने की कोई आवश्यकता नहीं.

कंप्यूटर मॉनिटर (Computer monitor) in Hindi

आपको आपके बजट के हिसाब से अच्छा कंप्यूटर मॉनिटर लेना चाहिए. अगर आप जो ऊपर चीजें बताई गई हैं उन चीज़ो की उत्तम क्वालिटी के साथ जाते हैं तो आपके मॉनिटर की क्वालिटी भी Good होनी चाहिए यानी आपको एक Full-HD या कम से कम HD computer monitor तो लेना ही चाहिए.

ऐसा इसलिए क्योंकि आजकल Ultra Hd में कंटेंट available है. ऐसा बहुत सारा कंटेंट इंटरनेट पर है जैसे एचडी गेम्स हो गए, सॉफ्टवेयर,एप्लीकेशंस, etc.

Computer monitor लेने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि उससे निकलने वाली किरणें कहीं आपकी आंखों के लिए ज्यादा हानिकारक तो साबित नहीं होंगी आप एक बार संबंधित अधिकारी, दुकान या जिससे भी आप ले रहे हैं ऑनलाइन या ऑफलाइन उससे इस बात का पता जरूर कर ले.

Read more

  1. Difference between Jio fiber 999 plan and Bsnl fiber 999 plan Haryana सुविधाओं में अंतर क्या-क्या है?
  2. माइक्रो ब्लॉगिंग और इवेंट ब्लॉगिंग में क्या अंतर है? difference between micro blogging and event blogging
  3. 2021 में पर्सनल ब्लॉग कैसे शुरू करें? Personal blog in Hindi 2021
  4. स्टारलिंक सेटेलाइट प्रोजेक्ट क्या है? What is Starlink Satellite Project?
  5. गूगल फोटोज के नए Price क्या है 1 जून 2021 के बाद?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: