Indian government reaction on Twitter policies?

Indian government reaction on Twitter policies?

Indian government reaction on Twitter policies? – सोशल मीडिया कंपनी टि्वटर और भारत सरकार के बीच बहुत दिनों से बहुत सी बातों को लेकर गतिरोध चल रहा है. इस पर भारत सरकार के आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने Zee न्यूज के साथ एक इंटरव्यू में कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण बातें भारत सरकार की तरफ से ट्विटर को कहीं है, और भारतीय जनता को भी उन बातों को पता चले.

अपने इस इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि ट्विटर भारत में आए अपना व्यापार करे खूब पैसे कमाए सरकार की आलोचना करें हमारी आलोचना करें और भी बहुत कुछ यानी अपनी कंपनी का मुनाफा बढ़ाने के लिए वह सही ढंग से कितना ही व्यापार भारत में करें.

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह अपने मनचाहे तरीके से अपनी पॉलिसी और अपने अधिकारों का भारत में आकर उल्लंघन करता पाया जाता है तो भारतीय संविधान के अनुसार हम ऐसी चीजों को रोकने और उन्हें भारत में कानून के दायरे में रहकर बंद करने के लिए पूरी कोशिश करेंगे.

उन्होंने बताया कि ट्विटर पर उन्हें बहुत शिकायतें आती है कि कैसे लोग ऐसी चीजें डालते हैं जिनका दूसरे लोगों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है और अन्य तरह की परेशानियों का सामना करते हैं. जिनमें उन्होंने wrong propaganda, abusive content, लड़कियों के अश्लील मैसेज, और अन्य कई तरह की बातें फैला रहे हैं उनका जिक्र किया. उन्होंने अपने इंटरव्यू में DNA – सुधीर चौधरी के साथ ये सब बाते देश के सामने रखी और ट्विटर को लेकर भारत का जो स्टैंड है वह सबके सामने रखा.

Read Also – What is the future of coding in India?

Indian government reaction on Twitter policies? What It Minister says to Twitter?

जी न्यूज के एक प्रसिद्ध show DNA with Sudhir Chaudhari के साथ अपने एक लाइव इंटरव्यू में उन्होंने यह सब बात देश के सामने रखी. Zee News पर एक सौ आता है DNA, जोकि सुधीर चौधरी प्रस्तुत करते हैं उसके एंकर हैं. उन्होंने आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद के साथ लाइव इंटरव्यू में ट्विटर को लेकर भारत में चल रहे गतिरोध के बारे में उनसे सवाल किए और भारत के आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उनके बहुत ही नम्रता के साथ जवाब दिए.

“उन्होंने कहा कि ट्विटर भारत में आए खूब पैसा कमाएं खूब व्यापार करें, हमारी आलोचना करें प्रधानमंत्री की आलोचना करें  सरकार की आलोचना करें लेकिन अगर twitter अपनी पॉलिसियों को भारत पर थोपने की कोशिश करेगा और ऐसी चीजें अपने प्लेटफार्म पर दिखाएगा, जिसके कारण दंगे भड़कते हैं समाजिक दूरियां बढ़ती हैं, और समाज में एक गलत संदेश जाता है, किसी भी चीज को लेकर भले ही वह सरकार हो कोई और व्यक्ति विशेष हो ऐसी चीजें कभी भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी”

Read Alsoस्टारलिंक सेटेलाइट प्रोजेक्ट क्या है? What is Starlink Satellite Project?

Content Vs. Twitter in India क्या है पूरा मामला?

दरअसल कुछ महीनों या कहें कि बहुत समय से भारत सरकार ने ट्विटर को भारत में अपना एक कार्यकारी अधिकारी यानी जो ट्विटर पर हो रही घटनाओं पर नजर रखे सही और गलत का फैसला करें. और उसको भारतीय संविधान के अनुरूप अमल में लाए और उस पर कदम उठाए ऐसा अधिकारी नियुक्त करने के लिए कहा था और अपनी पॉलिसियों में बदलाव करने के लिए भी कहा था.

लेकिन ट्विटर ने अभी तक कोई भी ऐसा अधिकारी जो कि भारत में ट्विटर पर चल रहे वाद-विवाद, बातचीत, टाइप ऑफ कंटेंट, आदि बहुत सी चीजों पर नजर रखने के लिए कोई भी नियुक्ति नहीं की है. सरकार ने twitter को इसके लिए  4 महीने का समय दिया था और उसके 4 महीने पूरे होने के बाद भी सरकार 1 महीने का अतिरिक्त समय दे चुकी है.

लेकिन अभी भी ट्विटर ने कोई भी ऐसा अधिकारी नियुक्त नहीं किया है तो इस पर सरकार ने सख्त रुख अपनाते हुए ट्विटर को ये साफ़ कह दिया है कि अगर twitter के कारण किसी भी प्रकार की राष्ट्रीय नीति और रणनीति पर आँच आने की संभावना होती है तो भारत बर्दाश्त नहीं करेगा.

Read Also2021 में इंस्टाग्राम पर पर्सनल ब्लॉग कैसे बनाएं How to make your Instagram a personal blog?

Other Social-platforms पर भी नज़र है सरकार की 

सरकार ने यह सब ट्विटर के लिए ही नहीं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, आदि पर भी अगर ऐसी कोई भी चीज होती है. जिससे व्यक्ति की निजता का उल्लंघन होता है, और भारतीय कानून के अनुरूप कोई भी चीज काम नहीं करती है तो ऐसे में उस प्लेटफार्म से उस वस्तु, उस व्यक्ति, आदि बहुत सी चीजों को तुरंत प्रभाव से हटाया जाना चाहिए.

यह सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को अपनी पॉलिसी में बदलाव करके सुनिश्चित करना चाहिए. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि सोशल मीडिया आज के समय में क्या ताकत रखता है.

अगर सोशल मीडिया पर कोई गलत मैसेज कोई, गलत संदेश वायरल कर दिया जाता है तो वह बहुत जल्दी हजारों लाखों करोड़ों लोगों तक पहुंच जाता है. जिससे उस संदेश की सत्यता जाने बिना बहुत से लोग उस पर भरोसा कर लेते हैं. जिसके कारण समाज में बहुत सी चीजों को लेकर गतिरोध उत्पन्न हो सकता है.  तो ऐसे में सरकार ने इस सब को सही करने और इसे रोकने के लिए भविष्य में, यह सब कदम उठाए हैं जिसको सभी सोशल मीडिया कंपनियों द्वारा पालन करना आवश्यक बनाया जाएगा.

Read Alsoवर्डप्रेस वेबसाइट को यूजर फ्रेंडली कैसे बनाएं | How to Make WordPress Website user friendly?

जन साधारण Twitter User का क्या कहना है?

अगर हम बात करें हमारे और आपके यानी या उन बहुत से users की जो कि normal ट्विटर का इस्तेमाल करते हैं, इंफॉर्मेशन, डाटा, और बहुत सारा कंटेंट ट्विटर पर शेयर करते हैं.

इसके साथ-साथ दूसरों के पोस्ट tweet आदि को लाइक करते हैं उन्हें retweet करते हैं उन पर रिप्लाई संदेश आदि बहुत सी चीजें हैं वह सब करते हैं. लेकिन वही ऐसे बहुत से अकाउंट है जो कि गलत तरीके से गलत चीज फैलाने का काम करते हैं. ऐसे लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए जो कि समाज में ऐसी व्यवस्था बनाने की कोशिश करते हैं जिससे आपसी मतभेद बढ़ जाएंगे.

Indian government reaction on Twitter policies?
Photo by Nadine Shaabana on Unsplash

Twitter द्वारा अक्सर लोगों के अकाउंट बंद कर दिए जाने की शिकायतें आती रहती है. हाल ही में बहुत से बीजेपी के नेताओं के Blue tick भी ट्विटर ने हटा दिए थे जो कि बाद में सरकार द्वारा कार्रवाई करें जाने के कारण वापस कर दिए गए.

यही नहीं ट्विटर ने बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध लोगों के ट्विटर अकाउंट भी बैन किए हैं, बंद किए हैं, बहुत से लोगों के tweet डिलीट कर दिए जाते हैं, हटा दिए जाते हैं, और ऐसे tweet जिन की सत्यता को जाने बिना ट्रेंडिंग लिस्ट में डाल दिया जाता है ये सब सही नहीं है, और वो भी भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में.

आपकी इस सब पर क्या राय है कमेंट सेक्शन में जरूर अपनी राय रखें धन्यवाद.

Read AlsoDifference between Jio fiber 999 plan and Bsnl fiber 999 plan Haryana सुविधाओं में अंतर क्या-क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: